एनपीएस स्कीम [ NPS Scheme ] हिंदी में । एनपीएस NPS में निवेश क्यों करना चाहिए!

एनपीएस क्या है? NPS kya hai ? एनपीएस में निवेश क्यों करना चाहिए? एनपीएस क्यों जरूरी है? एनपीएस के लाभ? NPS ke laabh

हेलो आज के इस लेख में हम आपको एनपीएस [ NPS Scheme ] से संबंधित सभी प्रश्नों के उत्तर देंगे यदि आप एनपीएस से जुड़ी सभी जानकारी जानना चाहते हैं तो इस लेख को अंतत जरूर पढ़ें यदि आपको यह लेख पसंद आता है तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

दोस्तों यदि आप एनपीएस स्कीम [ NPS Scheme ] में निवेश करना चाहता है या एनपीएस के सेक्टर में खाता खुलवाना चाहते हैं या आप जानना चाहते हैं कि एनपीएस [ NPS Scheme ] में खाता क्यों खुलवाना चाहिए एनपीएस कितने प्रकार के होते हैं इन सभी की जानकारी आगे दी गई है।

एनपीएस [ NPS Scheme ] क्या होता है?

एनपीएस यानी राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली लंबी अवधि की एक अनूठी निवेश योजना है । यह आपके छोटे-छोटे बचत को इकट्ठा करके आपके बुढ़ापे के लिए धनराशि एकत्रित करती है । जिससे आपके बुढ़ापे की जिंदगी अच्छी होती है और इसके अतिरिक्त भी अन्य लाभ होते हैं।

एनपीएस [ NPS Scheme ] में कौन कौन से सेक्टर हैं?

एनपीएस [ NPS Scheme ] यानी राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के अंतर्गत 2 सेक्टर हैं-

  1. सरकारी
  2. निजी या गैर सरकारी सेक्टर

1. सरकारी सेक्टर

सरकारी क्षेत्र के अंतर्गत राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार के कर्मचारियों का खाता खोला जाता है।

केंद्र सरकार– केंद्र सरकार नई स्कीम 1 जनवरी 2004 से सशस्त्र बलों को छोड़कर शुरू किया था। जिसमें केंद्रीय कर्मचारी जिनकी नियुक्ति 1 जनवरी 2004 या इसके बाद हुई है । उन सभी कर्मचारियों के लिए यह स्कीम अनिवार्य रूप से कब रखी गई है। जिसमें कर्मचारियों के मासिक वेतन से 10% काट लिया जाता है और सरकार द्वारा 10% मिला दिया जाता है जो 20% हो जाता है।

राज्य सरकार– केंद्र सरकार के वादे इस स्कीम को कई राज्य सरकारों ने भी अपने अपने कर्मचारियों के हित के लिए लागू किया जो केंद्र के समान ही मासिक वेतन से 10% का अंशदान ने लेकर अपनी ओर से 10% का योगदान देती है।

2- निजी सेक्टर/कॉरपोरेट-

एनपीएस [ NPS Scheme ] कॉरपोरेट सेक्टर कई संस्थाओं को उनके कर्मचारियों संबंधी को इस योजना की परिधि के भीतर एक संगठित संस्था के रूप में अपने संस्था के कर्मचारियों के लिए एनपीएस को अपनाने हेतु उपयुक्त यह कहे तो बेहतरीन स्कीम है।

ऑल सिटीजन ऑफ इंडिया- इसमें स्कीम के तहत जो भारत का व्यक्ति किसी सरकारी या गैर सरकारी तथा किसी कॉर्पोरेट संस्था के अंतर्गत नहीं आता है सेक्टर के अंतर्गत एनपीएस [ NPS Scheme ] खबर नहीं है तो ऐसे सिटीजन इस स्कीम का लाभ ले सकते हैं इसे ऑल सिटीजन ऑफ इंडिया को एक मई 2009 से शामिल किया है।

एनपीएस [ NPS Scheme ] क्यों जरूरी है?

बाजार में कई तरह के पेंशन स्कीम चल रहे हैं लेकिन उन सभी स्क्रीन की तुलना में एनपीएस [ NPS Scheme ] खाता खुलवाने के उसके स्वयं के लाभ है जैसे कि-

व्यक्तियों के चारों और निवेश करने वालों के लिए लाभ ,निवेश पर बाजार से जुड़े ,आकर्षक प्रतिफल, कम लागत वाले उत्पाद पेंशन फंड और निवेश विकल्प का चयन।

आयकर लाभ-

एनपीएस [ NPS Scheme ] आपको धारा 80c के तहत ₹50000 तक के निवेश पर अतिरिक्त कर लाभ देता है यह धारा 80 सी के तहत लगभग 1 पॉइंट 5 लाख तक की सीमा के अतिरिक्त है।

एनपीएस [ NPS Scheme ] में कौन निवेश कर सकता है?

एनपीएस [ NPS Scheme ] में वैसे भी व्यक्ति जो भारत के नागरिक हो एवं 18 वर्ष से 65 वर्ष की आयु के बीच हो एनपीएस आवेदन जमा कर सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment

X
Share via
Copy link